Agriculture News : UP की बेटी DU से पढ़ाई कर सब्जी की खेती से कमा रही लाखों में मुनाफा

Agriculture News : उत्तर प्रदेश में महिलाएं शिक्षा के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी प्रसिद्धि हासिल कर रही हैं।आज हम आपको एक ऐसी महिला की कहानी बताएंगे जो सब्जी की खेती करके लाखों रुपये कमाती है। रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की रहने वाली अनुष्का जायसवाल ने दिल्ली विश्वविद्यालय के द हिंदू कॉलेज से इकोनॉमिक्स की पढ़ाई की है, लेकिन उन्होंने सब्जी की खेती करने का निर्णय लिया और आज सालाना 45 लाख रुपये की कमाई कर रही हैं। अनुष्का ने 23 साल की उम्र में खेती शुरू की थी और अब 27 साल की उम्र में हर महीने 2 लाख रुपये कमाती हैं।

Agriculture News : UP की बेटी DU से पढ़ाई कर सब्जी की खेती से कमा रही लाखों में मुनाफा

किसान महिला अनुष्का जायसवाल की सफल कहानी

इंटरव्यू में अनुष्का ने बताया कि उन्होंने 2021 में लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र के सिसेंडी गांव में एक एकड़ जमीन लीज पर लेकर खेती की शुरुआत की थी। उन्होंने बताया कि उन्हें सरकार से 50 प्रतिशत सब्सिडी मिली थी, जिसके बाद उन्होंने एक एकड़ जमीन पर पॉली हाउस की शुरुआत की थी. आज, अनुष्का छह एकड़ की जमीन पर सब्जी की खेती कर रही हैं, जिससे वे काफी मुनाफा कर रहे हैं। Agriculture News

उन्होंने कहा कि जब उन्होंने नौकरी की जगह खेती करने का निर्णय लिया था, तो कई लोगों ने इस पर सवाल उठाया था, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी और आज लाखों रुपये कमा रहे हैं।

Kota Mandi Bhav 03 March 2024 : कोटा मंडी में चना और सरसों के भाव ने पकड़ी रफ्तार

जैविक रूप से उगाई जाने वाली सब्जियां

अनुष्का जायसवाल ने बताया कि उनके खेत की उगाई हुई सब्जियां लखनऊ के हर मॉल और मंडी में बिकती हैं, जिससे उन्हें काफी अच्छा मुनाफा हो रहा है। उन्होंने अपने परिवार के बारे में बताया कि उनके पिता एक व्यापारी हैं और उनकी मां घरेलू काम करती है। उनकी बहन वकील है, भाई पायलट और भाभी सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं।Agriculture News

अनुष्का बताती हैं कि क्योंकि उनके पास खेती का कोई अनुभव नहीं था, उन्होंने खेती की ट्रेनिंग लेकर जमीन लीज पर ली और फिर तकनीक का उपयोग कर खेती करने के लिए कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी।

आपको बता दें कि अनुष्का जायसवाल की एक एकड़ जमीन पर निर्मित पॉली हाउस में पचास टन इंग्लिश ककड़ी और तीस टन लाल पीली शिमला मिर्च का उत्पादन हुआ था। साथ ही, उनके खेतों में उगाई गई सब्जियां लखनऊ के मॉल और सब्जी मंडियों में काफी मांग हैं। Agriculture News

इसके अलावा, वे अपने खेत में कोई केमिकल फॉर्टिलाइजर नहीं उपयोग करती हैं। उनका दावा है कि वे केमिकल-मुक्त जैविक तरीके से सब्जियों की खेती करते हैं। उन्होंने बताया कि उद्यान विभाग ने ड्रॉप मोर क्राप के तहत 90 प्रतिशत की सब्सिडी दी है, जिससे अधिक उत्पादन और कम खर्च होता है।

रोजाना मंडी भाव व्हाट्सप्प पर पाने के लिए यहां क्लिक करके व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े.

Leave a Comment